Home » 7 मई देश के लिए साबित हुआ हादसों का दिन
समाचार

7 मई देश के लिए साबित हुआ हादसों का दिन

पिछले कुछ महीने से भारत को कुछ ना कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है अभी करोना का कहर खत्म ही नहीं हुआ था कि परसो रात विशाखापट्टनम में गैस लीक कांड, छत्तीसगढ़ में विस्फोट, और शाम को तमिलनाडु में दर्दनाक हादसे हुए ।  ऐसा माना जा रहा है कि कल का दिन ही हादसों भरा था।  आईए विस्तार से जानते है इन घटनाओं के बारे में ।

विशाखापट्टनम में गैस लीक कांड

दक्षिण कोरियाई कंपनी एलजी केम द्वारा संचालित एलजी पॉलीमर्स के कारखाने में क़रीब परसो रात 3 बजे गैस लीकाज  हादसे से  11 लोगों की मौत हो गई । जिस जगह ये हादसा हुआ वहां के आसपास के गांवों के बहुत सारे लोग  प्रभावित हुए हैं। अभी तक करीब दो दर्जन लोगों की हालत गंभीर है और उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया है। दरसअल विशाखापट्टनम के आर.आर. वेंकटपुरम गांव में परसो रात करीब ढाई बजे के आसपास एल.जी पॉलिमर उद्योग में रासायनिक गैस लीक हो गई। जिसके वजह से वहां पर रह रहे मजदूरों के आंखों में जलन और सांस लेने में तकलीफ की शिकायत हुईं और उन्हें  अस्पताल ले जाया गया। वही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस पूरी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं और उन्होंने हालात को पूरी विस्तार से जाने के लिए मीटिंग बुलाई। यदि राज्य सरकार की बात करे तो वो मृतकों के परिजनों को एक करोड़ रुपये का मुआवजा देने की घोषणा कर रही है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद गृह मंत्री अमित शाह ने इस दुर्घटना पर शोक जताया है।

छत्तीसगढ़ पेपर मिल गैस लीक

विशाखापट्टनम गैस हादसे के बाद छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले में भी एक पेपर मिल में गुरुवार को दिल दहलाने वाला हादसा हुआ। यह हादसा पेपर मिल में क्लोरीन गैस पाइप-लाइन फटने से हुआ। इस दुर्घटना में सात मजदूर बुरी तरह से घायल हो गाए ।  जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

तमिलनाडु बॉयलर इंसिडेंट

गुरुवार का दिन देश के लिए हादसों भरा साबित हुआ है। विशाखापट्टनम और रायगढ़ के बाद तमिलनाडु स्थित नेवेली लिग्नाइट कॉर्पोरेशन लिमिटेड में बॉयलर फटने से आठ लोग बुरी तरह घायल हो गए हैं। जिनमें से छह की हालत गंभीर है। बॉयलर फटने के बाद पूरे आकाश में धुआ-  धुआ हो गया। इस घटना के बाद  एनएलसी इंडिया लिमिटेड की राहत और बचाव कार्य मुहैया कराने वाले टीमें पहुंच गईं हैं और हालात को काबू करने की कोशिशें की जा रही हैं।

Firework