Connect with us

क्रिकेट

2 जुलाई को अपनी नई पारी शुरू करेंगे महेंद्र सिंह धोनी

Published

on

कैप्टन कूल के नाम से मशहूर भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी 2019 के वर्ल्ड कप के बाद से ही टीम से बाहर चल रहे हैं। धोनी को इंटरनेशनल मैच खेले लगभग 1 साल हो गए हैं। वर्तमान में महामारी कोविड 19 नमक कोरोना वायरस की वजह से पूरा का पूरा खेल जगत प्रभावित है। हालांकि कुछ देशों ने कुछ खेल शुरू कर दिए हैं। लेकिन अब इस महामारी के चलते कितने दिनों तक खेल नहीं खेला जाएगा? इस प्रश्न का उत्तर अभी तो किसी के पास नहीं है। हालंकि कैप्टन कूल धोनी 2 जुलाई से अपनी ऑनलाइन कोचिंग शुरू करेंगे।

महेंद्र सिंह धोनी 2 जुलाई को ऑनलाइन क्रिकेट एकैडमी लॉन्च करेंगे। इस ऑनलाइन क्रिकेट एकेडमी के तहत हजारों युवाओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा। इस काम के लिए 200 कोच की नियुक्ति भी की जा चुकी है। दो जुलाई से खिलाड़ियों के लिए कोचिंग शुरू होने जा रही है। साउथ अफ्रीका के पूर्व क्रिकेटर डेरिक कलिनन उनकी इस योजना के डायरेक्टर बनाए गए हैं। सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि विदेशों में भी धोनी की यह ऑनलाइन क्रिकेट एकेडमी युवाओं को क्रिकेट की बारीकियां सिखाएगी।

हम सभी जानते है कि महामारी‌ कोरोन वायरस की वजह से आईपीएल 2020 भी अभी तक नहीं हो सका है। अगर आज ये महामारी ना फैली होती तो हम सभी धोनी को आईपीएल में खेलते देख पाते। अब तक शायद वह (धोनी) सीनियर टीम में वापसी भी कर चुके होते। लेकिन कोरोना की वजह से सब कुछ रुक सा गया है। इस रुके हुए दौर को पटरी पर लाने के लिए ही धोनी ऑनलाइन क्रिकेट अकेडमी लॉन्च कर रहे हैं। अगर धोनी के कोचिंग एक्सपीरिएंस की बात करें तो धोनी के पास अभी कोच के रूप में खूब खास अनुभव नहीं है। हालांकि उन्होंने 2017 में दुबई में अपनी क्रिकेट अकेडमी खोली थी लेकिन इंटरनेशनल क्रिकेट की बाध्यताओं की वजह से वो इसको ज्यादा समय नहीं दे पाए थे। उनकी एकैडमी पिछली साल बंद कर दी गई थी। इसके अलावा चेन्नई सुपर किंग्स के उनके साथी क्रिकेटर रविचंद्रन अश्विन की एकैडमी भी पिछले साल बंद हो गई थी।

सबको उम्मीद है कि जल्द से जल्द इंटरनेशनल मैच शुरू हो। उधर बीसीसीआई की तरफ से भी संकेत मिल रहें हैं कि अगर साल के अंत तक कोरोना की‌ स्थिति सामान्य हो जाती है तो संभव है कि बीसीसीआई आईपीएल करा दे।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

क्रिकेट

आज के दिन इन 5 खिलाड़ियों ने किया था अपना टेस्ट डेब्यू

Published

on

भारतीय क्रिकेट इतिहास की बात की जाए तो 20 जून का दिन भारतीय क्रिकेट इतिहास में काफी अहमियत रखता है। क्योंकि आज ही के दिन भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम को ऐसे पांच खिलाड़ी मिले थे जिन्होंने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय टेस्ट  मैच खेला था और जिनमें से 3 खिलाड़ी भारत के कप्तान भी बने। 20 जून 1996 को दो भारतीय खिलाड़ियों ने इंटरनेशनल टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया था तो वहीं 20 जून 2011 को तीन भारतीय खिलाड़ियों ने इंटरनेशनल टेस्ट क्रिकेट में भारत की तरफ से अपना पहला मैच खेला था। यानी कुल मिलाकर 20 जून को पांच भारतीय खिलाड़ियों ने अपना डेब्यू टेस्ट मैच खेला था। और इन 5 खिलाड़ियों में से तीन भारतीय खिलाड़ियों को कप्तानी करने का भी मौका मिला।

20 जून 1996 को बाएं हाथ के बल्लेबाज दादा यानी सौरव गांगुली और दाएं हाथ के बल्लेबाज राहुल द्रविड़ दोनों ने इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में डेब्यू किया था। इंग्लैंड के ऐतिहासिक मैदान लॉर्ड पर गांगुली और द्रविड़ ने एक साथ अपने कैरियर का पहला मैच खेला था इस मैच में सौरव गांगुली ने टॉप मॉडल में बल्लेबाजी करते हुए शतक जमाया था जबकि राहुल द्रविड़ 95 रन के निजी स्कोर पर आउट हो गए थे।‌ यह मैच बेनतीजा रहा था।

वहीं 2011 में इन्हीं खिलाड़ियों ने अपना पहला टेस्ट मैच खेला था। 20 जून 2011 को भारत के वर्तमान कप्तान विराट कोहली,  प्रवीण कुमार और अभिनव मुकुंद ने अपना पहला टेस्ट डेब्यू मैच खेला था। हालांकि, विराट कोहली और अभिनव मुकुंद इस मैच में फ्लॉप रहे थे, लेकिन प्रवीण कुमार ने दोनों पारियों में टीम के लिए 3-3 विकेट चटकाकर अपनी टीम को जीत दिलाने में सफलता हासिल की थी। हालांकि, न तो प्रवीण कुमार और न ही अभिनव मुकुंद ज्यादा दिन तक टीम के लिए खेल पाए।

भारतीय टीम के लिए अभिनव मुकुंद ने 2011 से 2017 तक कुल 7 टेस्ट मैच खेले हैं, जबकि प्रवीण कुमार का टेस्ट करियर उसी साल 6 टेस्ट मैच खेलकर समाप्त हो गया था। वहीं, आज के दिन टेस्ट डेब्यू करने वाले इन 5 खिलाड़ियों में से तीन खिलाड़ियों को भारतीय टीम की कप्तानी करने का मौका मिला है, जिनमें सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़ और विराट कोहली का नाम है। वहीं, अभिनव मुकुंद ने तमिलनाडु राज्य और इंडिया ए की कप्तानी की है।

आज के दिन टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू करने वाले इन 5 भारतीय खिलाडियों में से 3 खिलाड़ियों को भारत की कप्तानी करने का मौका मिला, जिनमें सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़ और विराट कोहली का नाम है। वहीं, अभिनव मुकुंद ने तमिलनाडु राज्य और इंडिया ए की कप्तानी की है। विराट कोहली अभी भी भारत की कप्तानी कर रहे हैं। वह भारत के वनडे क्रिकेट टीम, टेस्ट क्रिकेट टीम और टी – 20 क्रिकेट टीम के कप्तान हैं। वर्तमान समय में विराट कोहली भारत की तरफ से सभी फॉर्मेट में कप्तानी का जिम्मा संभाले हुए हैं।

Continue Reading

क्रिकेट

शिखर धवन ने किया खुलासा, कहा इसलिए रोहित शर्मा के साथ जमती है जोड़ी

Published

on

rohit-dhawan

वनडे क्रिकेट में ओपनिंग की बात की जाए तो शिखर धवन और हिटमैन रोहित शर्मा की जोड़ी की बात ना की जाए, तो बहुत गलत होगा। दोनों ने वनडे क्रिकेट में अब तक भारत को एक सुलझी शुरुआत दी है और आगे भी दोनों भारत को अच्छी शुरुआत देने की कोशिश करेंगे। गब्बर यानी शिखर धवन ने खुलासा किया है कि रोहित शर्मा और उनकी जोड़ी वनडे क्रिकेट में अब तक इतनी सफल क्यों रही है?

 

शिखर धवन ने कहा है कि मेरी और रोहित शर्मा की जोड़ी सफल इसलिए रही है क्योंकि हम दोनों के बीच ट्रस्ट फैक्टर है। शिखर धवन ने कहा कि हम दोनों एक दूसरे पर बहुत भरोसा करते हैं, और इसी भरोसे के दम पर हम छोटे-छोटे रन दौड़ कर  चुरा लेते हैं, खैर कभी-कभी गलतियां भी हो जाती हैं।

 

 

वनडे क्रिकेट में ओपनिंग साझेदारी की बात की जाए तो भारत की तरफ से सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली ने सबसे ज्यादा 21 बार वनडे क्रिकेट में ओपनिंग  साझेदारी की है। और वहीं ऑस्ट्रेलिया के मैथ्यू हेडन और एडम गिलक्रिस्ट दूसरे स्थान पर हैं। वहीं अगर रोहित शर्मा और शिखर धवन की ओपनिंग साझेदारी की बात की जाए तो इन दोनों ने अब तक मिलकर भारत को वनडे में एक अच्छी शुरुआत दिलाई है दोनों ने 16 बार वनडे क्रिकेट में भारत के   शतकीय साझेदारी भी की है।

 

 

 

ओपनर शिखर धवन ने क्या कहा खुद ही पढ़िए “मैं उसको (रोहित शर्मा) अंडर 19 के दिनों से जानता हूं। वह एक-दो साल जूनियर था और फिर हम एक साथ आए थे। हम एक दूसरे पर भरोसा करते हैं और अच्छी दोस्ती भी हम दोनों के बीच है, जो हमारे काम आती है। हम दोनों एक दूसरे के स्वभाव और किरदार को जानते हैं। मैं जानता हूं कि वह कैसा है। यह बहुत गर्व करने वाली बात है कि हमने मिलकर भारत के लिए अच्छा किया है।”

 

गब्बर आगे कहते हैं “जब एक दूसरे के साथ सामंजस्य होता है तो यह आपके लिए सकारात्मक ऊर्जा और वाइब्स लाता है। जब भी मुझे अपनी बल्लेबाजी से कोई समस्या आती है, मैं उससे पूछता हूं। हमारे बीच में एक मजबूत संचार चल रहा होता है। हम साल में 230 दिन एक साथ यात्रा करते हैं। इसलिए पूरी टीम इंडिया एक बड़ा परिवार है।” शिखर धवन को गब्बर के नाम से भी जाना जाता है यह सब तो आप जानते ही होंगे।

 

महामारी कोविड-19 की वजह से अभी क्रिकेट की शुरुआत नहीं हुई है हालांकि आईपीएल होने के कयास लगाए जा रहे हैं। बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा है कि बिना दर्शकों के भी आईपीएल कराया जा सकता है। आए दिन आ रहे बीसीसीआई और तमाम क्रिकेटरों के बयान से कयास तो यही लगाए जा रहे हैं कि इस वर्ष के अंत तक आईपीएल कराया जा सकता है।

Continue Reading

क्रिकेट

#BirthdaySpecial Rohit Sharma: हिट मैन शर्मा के कुछ अनोखे रिकॉर्ड

Published

on

 

हिट मैन, रो – सुपर हिट शर्मा, सिक्सर किंग ये सब उपनाम भारतीय क्रिकेट टीम के उप कप्तान और धाकड़ बल्लेबाज शर्मा जी के हैं। जिनका आज जन्मदिन (30 अप्रैल) है। शर्मा जी आज 33 बरस के हो गए हैं। उम्र के साथ शर्मा जी के प्रदर्शन में निखार आ रहा है।

चाहे वो रणजी ट्रॉफी हो हो, आईपीएल हो ,एशिया कप हो, हर फॉर्मेट में रोहित ने खुद को बतौर कप्तान बेहतरीन प्रदर्शन किया है। मुंबई इंडियंस को 4 बार आईपीएल का खिताब जिताया।

 

रोहित के आंकड़े

 

1. रोहित ने 224 वनडे मैच खेले हैं, जिसमें उनके नाम 9,115 रन हैं। उनका औसत 49 से ज्यादा का है।

2. रोहित अब तक वनडे में 29 शतक लगाकर पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पॉन्टिंग के साथ तीसरें नंबर पर हैं।‌उनसे आगे सिर्फ विराट कोहली और सचिन तेंदुलकर हैं।

3. रोहित ने वनडे में सबसे ज्यादा 3 बार (ऑस्ट्रेलिया, वेस्टइंडीज, और श्रीलंका के खिलाफ़) दोहरे शतक लगाए हैं।

4. रोहित के नाम वनडे क्रिकेट में सबसे बड़े स्कोर का रिकॉर्ड है। रोहित ने 2014 में श्रीलंका के खिलाफ कोलकाता में 264 रन बनाए थे।

5. रोहित की कप्तानी में मुंबई इंडियंस ने सबसे ज्यादा 4 बार लीग का खिताब अपने नाम किया है। इतना ही नहीं आईपीएल में हैट्रिक भी ली है।

6. रोहित ने 2019 के वर्ल्ड कप में 5 शतक जड़ डाले. वनडे वर्ल्ड कप के इतिहास में एक ही इवेंट में ऐसा करने वाले वो इकलौते बल्लेबाज हैं।

7. वनडे में उनके नाम 244 छक्के हैं, जो किसी भी भारतीय बल्लेबाज से ज्यादा हैं।

8. रोहित ने वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा 8 बार 150 से ज्यादा का स्कोर बनाया है।

 

धोनी ने रोहित को दिया ब्रेक

 

2013 तक रोहित का कैरियर जमीन पर था। लेकिन पूर्व कप्तान और वर्तमान में टीम में वापसी के लिए जूझ रहे कैप्टन कूल के नाम से मशहूर महेंद्र सिंह धोनी ने जब 2013 में हिट मैन रोहित शर्मा को ओपनिंग करने का मौका दिया तो रोहित ने खुद को साबित कर दिया कि वो किसी से कम नहीं हैं। 2013 के बाद रोहित ने पीछे मुड़कर कभी नहीं देखा। और नए नए कीर्तिमान स्थापित करते चले गए। और वहीं भारत को तीन – तीन विश्व किताब वर्ल्ड कप, टी 20 वर्ल्ड कप, और चैंपियन ट्रॉफी जीतने वाले माही आज टीम इंडिया में वापसी की राह तलाश रहे हैं। उम्मीद है कि उनकी वापसी होगी।

Continue Reading

Most Popular