बैजल पर लाल हुए केजरीवाल, बोले- मै अरविन्द हूँ आतंकवादी नहीं

दिल्ली में एक बार फिर केजरीवाल और एलजी में जंग खुल कर बाहर आती दिख रही है। इस बार अतिथि शिक्षकों से संबंधित विधेयक को लेकर दोनों आमने सामने आते दिख
रहे हैं।

दिल्ली विधानसभा में यह तल्खी तब उजागर हुई जब मनीष सिसोदिया और केजरीवालदोनों ने ही उप राज्यपाल अनिल बैजल पर अतिथि शिक्षकों को नियमित करने के
विधेयक को पास करने में अड़ंगा लगाने की बात कही। इस दौरान केजरीवाल काफी आक्रामक रहे।

केजरीवाल ने अपने संबोधन में कहा कि मैं कोई आतंकी नही हूँ। जनता द्वारा चुना गया मुख्यमंत्री हूँ लेकिन एलजी साहब हमारे काम मे अड़ंगा लगा रहे हैं। शिक्षा के विधेयक को सेवा का बताया जा रहा है। वहः कह रहे हैं कि यह सेवा का विधेयक है और उनके अधीन आता है।

केजरीवाल ने यह भी आरोप लगाया कि फाइलों को हमसे छुपाया जा रहा है। एलजी पर बिना नाम लिए निशाना साधते हुए केजरीवाल ने कहा कि साहब सरकार ब्यूरोक्रेसी से
नही चलती है।

केजरीवाल से पहले मनीष सिसोदिया ने भी अतिथि शिक्षकों को नियमित करने संबंधित विधेयक को सदन के पटल पर रखते हुए एलजी पर कुछ ऐसे ही आरोप लगाए थे।

केजरीवाल ने बीजेपी विधायक और नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता को चुनौती देते हुए कहा कि आप आइए और बताइये कि इस विधेयक में क्या कमी है। हम अभी बदलाव
करेंगे और आज रात में पास करते हैं। हालांकि केजरीवाल के बयान में प्रयोग किये गए शब्दों को अमर्यादित बताते हुए बीजेपी के विधायक सदन से बाहर चले गए।

कुल मिलाकर देखें तो यह तो तय है कि काफी दिनों से शांत केजरीवाल एक बार फिर बीजेपी और एलजी के खिलाफ आर पार के मूड में है।गुस्से से तमतमाए केजरीवाल के
अचानक इस रौद्र रूप को देखकर यह कहना गलत नही होगा कि आने वाले दिनों में दिल्ली की राजनीति में एक बार फिर तल्खी देखने को मिलेगी।

Share this story