Home » यूपी के गौतमबुद्ध नगर के डीएम की छुट्टी, सुहास एलआई होंगे नए कलेक्टर
उत्तर प्रदेश देश भारत राज्य शहर और राज्य समाचार

यूपी के गौतमबुद्ध नगर के डीएम की छुट्टी, सुहास एलआई होंगे नए कलेक्टर

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को गौतबुद्धनगर का दौरा किया। उन्होंने गौतबुद्धनगर के जिलाधिकारी बीएन सिंह से कोरोना की झूठी अफ़वाह फैलने के विषय में जवाब मांगा और उन्हें संतोषजनक जवाब नहीं मिला तो मुख्यमंत्री कलेक्टर साहब के ऊपर भड़क गए। यहां तक कि सीएम ने अफसरों से यह तक कह डाला कि अपनी जिम्मेदारी दूसरों पर डालना बन्द करिए।

आपको बता दें कि इस वक्त पूरे देश में दहशत का माहौल बना हुआ है। देश में 14 अप्रैल तक लॉक डॉउन लगा हुआ है। ताकि इस महामारी कोविड 19 नामक कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। लॉक डॉउन को ध्यान में रखते हुए योगी सरकार ने अपने अधिकारियों को सतर्कता बरतने को कहा था। जब सीएम योगी आदित्यनाथ ने अफसरों के साथ बैठक की और अफसरों की जमकर क्लास ली। दरअसल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नोएडा में ब्रिटिश नागरिकों से फैले संक्रमण से बेहद नाराज थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि ब्रिटिश नागरिकों के संपर्क में आने वाले लोगों को सही जानकारी नहीं दी गई, जिसकी वजह से यह परेशानी उत्पन्न हुई है। इस पर जब जिले के कलेक्टर बीएन सिंह ने जवाब देना चाहा तो प्रमुख सचिव ने उन्हें रोक दिया। इससे गुस्साए डीएम बीएन सिंह ने मुख्य सचिव को पत्र लिखकर 3 महीने की छुट्टी मांगी है।

उधर बैठक के बाद सूबे की योगी सरकार ने सख्त कदम उठाते हुए नोएडा के जिलाधिकारी बीएन सिंह को हटाकर उनकी जगह सुहास एलआई को गौतबुद्धनगर का नया जिलाधिकारी बनाया गया है। डीएम बीएन सिंह ने मुख्य सचिव को पत्र लिखकर 3 महीने की छुट्टी मांगते हुए लिखा कि कि मैं 18 – 18 घंटे काम कर रहा हूं। और अब मै नोएडा में नहीं रहना चाहता। उनके इस पत्र के बाद उनको हटाकर सुहास एलआई को गौतबुद्धनगर की कमान सौंपी गई है। मुख्यमंत्री की नाराजगी पर डीएम बीएन सिंह ने भी कहा कि अगर 18 -18 घंटे काम करने के बाद भी हालत संभल नहीं रहे हैं तो वह गौतबुद्धनगर में पोस्ट नहीं रहना चाहते। उनके इस जवाब पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने उन्हें फटकार भी लगाई।