इन सर्दियों ऐसे रखें बच्चों का ख्याल, नहीं पड़ेगे बीमार

शिशु बहुत ही नाजु होते है. उन पर मौसम बदलने का सबसे ज्यादा असर पड़ता हैं. जब भी मौसम में थोड़ा सा बदलाव आता हैं, शिशुओं की सेहत बिगड़ने लगती हैं. उन्हें जल्दी ही सर्दी, खांसी,जुखाम और बुखार आने लगता हैं. अब फिर से मौसम बदलने वाला हैं सर्दियाँ आने वाली हैं. इसलिए आज हम आपको बताने वाले हैं इन सर्दियों में अपने शिशुओं का ख्याल कैसे रखें.

बच्चे को नहलाते समय ध्यान रखने योग्य बातें – जब भी आप अपने बच्चे को नहलाने की सोचे तब देख लें की मौसम साफ़ हो. धूप अच्छे से निकली हों. नहाने के लिए गुनगुने पानी का उपयोग करें. आपके घर में धूप खुलकर आती हो तो बच्चे को बाथरूम की जगह धूप में ही नहलाएं. शिशुओं को रोज न नहलाएं. आप मुलायम कपड़ें से उनके शरीर को हलके गर्म पानी से पोछ भी सकती हैं. बच्चे को नहलाने से पहले उसकी मालिश भी जरूर करें.

मालिश करते  समय ध्यान रखने योग्य बातें – जब भी बच्चे की मालिश करे या तो धूप में करें या फिर किसी बंद कमरें में. ताकि ठंडी हवा उनको नुकसान न पहुचायें. मालिश हमेशा हलके गुनगुने तेल से करें. मालिश के लिए सर्दियों में सरसों का तेल बहुत लाभकारी होता हैं. रात के समय शिशुओं की मालिश करते समय सरसों के तेल में थोड़ी अजवाइन और लहसुन डाल कर तेल को गर्म कर लें, ठंडा होने पर उसी तेल से मालिश करें.

खाना खिलाते समय ध्यान रखने योग्य बातें – जब तक शिशु माँ का दूध पीता हैं माँ ध्यान रखें सर्दियों में ठंडी चीजे ज्यादा न खाएं. लेकिन आपका बच्चा 7 माह से अधिक का है और वह खाना खाता है, तो उसे ठंडी चीजें न खिलाएं.

 कपड़े पहनाते वक्त ध्यान रखने योग्य बातें- शिशुओं को कपड़े पहनाते वक्त ध्यान रखें की बच्चे के सिर और पैर भी अच्छे से पैक हो. क्योकि बच्चों को सबसे ज्यादा सर्दी पैरों व सिर से लगती हैं.

Share this story