Hasmukh Review :वीर दास के अलावा कुछ भी मजेदार नहीं है नेटफ्लिक्स की नई वेब सीरीज हंसमुख में

Hasmukh Review :वीर दास के अलावा कुछ भी मजेदार नहीं है नेटफ्लिक्स की नई वेब सीरीज हंसमुख में

17 अप्रैल को रिलीज हुई नेटफ्लिक्स वेब सीरीज हंसमुख को वीर दास, रणवीर शौरी और रवि किशन जैसे कलाकार इसे रोचक बनाने में सफल नहीं हुए.

इस सीरीज में वीर दास हंसमुख का किरदार निभा रहे हैं. जो यूपी के शहर सहारनपुर में पला बढ़ा है. कॉमेडी में अपना करियर बनाने की सोच रहा है. सामने सौ तरह की उलझनें है. हंसमुख स्टेज पर कॉमेडी तभी कर सकता है,जब उसने किसी का कत्ल किया हो. इससे हंसमुख के अनुसार उसके कला में फील आता है. सीरीज की कहानी इसी तरह एक के बाद एक कत्ल से आगे बढ़ती है.

वीर दास हंसमुख सीरीज की जान हैं. सारी कहानी इसी इर्द गिर्द घूमती नजर आती है. वीर दास के कैरेक्टर पर काफी काम किया गया.उनका शर्मीला अंदाज ,सहमे हुए अंदाज में बात करना तारीफ के काबिल है . शुरुआत के कुछ एपिसोड में कहानी  जरुर बांधे रखती है. लेकिन जैसे जैसे ये आगे बढ़ती है, इसका आकर्षण कम होता जाता है.

इसके अलावा रणवीर शौरी ने हंसमुख के मैनेजर के रूप में नजर आते है. कत्ल करने की पूरी प्लानिंग जिमी भैया यानी रणवीर शौरी उठाते हैं.हंसमुख उसे अपना भाई मानता है, उसकी इज्जत करता है. इतना सब के बाद भी रणवीर शौरी फीके ही दिखाई पड़ते हैं.

रवि किशन,रजा मुराद और इनामुलहक भी इंप्रेस करने में असफल रहे. उनके किरदार में उतनी गहराई नहीं दिखती. इसीलिए कई बार फास्ट फॉरवर्ड करने का ऑप्शन भी ख्याल आता है .

इस वेब सीरीज को वीर दास के साथ निखिल आडवाणी,अमोघ रानादिवे, नीरज पांडेय,सुपन वर्मा ने मिलकर लिखा है. जबकि निखिल गोंसालवेस ने इसे डायरेक्ट कर वेब सीरीज डेब्यू किया है .

हंसमुख के कॉमेडियन से किलर बनने के इंट्रेस्टिंग कॉन्सेप्ट को आप अंत तक मुश्किल से झेल पाएंगे. इससे बेहतर अपने इंटरनेट डाटा को कुछ और चीजों के लिए बचाकर रखें.

ट्रेलर लिंक :

Share this story