आख़िरी आर्थिक पैकेज में निर्मला सीतारमण ने किए 7 मुख्य एलान 

आख़िरी आर्थिक पैकेज में निर्मला सीतारमण ने किए 7 मुख्य एलान 

कल वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पांचवे दिन 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज का एलान किया। ये आर्थिक पैकेज का आखिर ऐलान था । कल के सभी मुद्दें  सात मुख्य चीजो पे केंद्रित था । ये सात चीज़े – मनरेगा, हेल्थ, शिक्षा, बिजनेस, कंपनी एक्ट, ईज ऑफ डूइंग बिजनेस और राज्य सरकारों के रिसोर्स थे।

जानिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने क्या कहा कल की  घोषणाएं में ।

हेल्थ

अलग अलग में राज्यो सरकार ने 4113  करोड़ रुपए किए आवंटित।

वित्त मंत्री ने जरूरी वस्तुओं के लिए दिए 3750 करोड़ ।

टेस्टिंग लैब्स और किट्स पर होंगे 505 करोड़ रुपए खर्च ।

सभी सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा पर सरकार करेंगी ज्यादा खर्च ।

ग्रामीण इलाकों में लैब होंगे तैयार ।

पब्लिक सेक्टर

पब्लिक सेक्टर इंटरप्राइज (PSE) नीति-सभी क्षेत्रों को निजी सेक्टर के लिए भी खोल दिया जाएगा।

स्ट्रेटेजिक सेक्टर जिसमें PSE मौजूद रहेंगी उसकी अधिसूचना दे दी जाएगी।

 

मनरेगा

मनरेगा के लिए मिलेंगे 61 हजार करोड़ ।सरकार 40,000 करोड़ के अतिरिक्त मनरेगा बजट बाटेगी।

प्रवासी मजदूर भी बन सकते है मनरेगा का हिस्सा।

शिक्षा

जल्द लॉन्च होगा डिजिटल PM e-vidhya  प्रोग्राम का मल्टीमोड।

इस मल्टिमोड का नाम  ‘वन नेशन वन डिजिटल प्लेटफॉर्म’ रखा गया है ।

इसमें हर कक्षा के लिए अलग अलग चैनल होंगे ।

दिव्यांगों के लिए रेडिया, कम्युनिटी रेडियो का इस्तेमाल कर बनाएंगे  स्पेशल ई-कॉन्टेंट ।

200 नई ई टेक्स्ट बुक बटेगी सरकार।

30 मई तक ऑनलाइन कोर्स शुरू करेंगी भारत की 100 यूनिवर्सिटी।

मजदूर

निर्मला सीतारमण ने बताया कि इस कोरोना संकट में  मजदूरों के लिए चलाई गई  स्पेशल ट्रेनें ।

इन स्पेशल ट्रेनों का 85 फ़ीसदी ख़र्च सेंट्रल गर्नमेंट ने दिया हैं।

सभी मजदूरों को ट्रेन के अंदर खाना भी मुहैया करवाया गया है।

कर्ज

कोरोना के कारण सभी कर्ज को डिफॉल्ट में नहीं किया जायेगा शामिल।

Share this story